swasthya raksha book pdf,swasthya raksha,Swasthya Raksha PDF,
| | | | | | |

स्वास्थ्य रक्षा PDF | Swasthya Raksha PDF Download

आज हम आपके लिए स्वास्थ्य रक्षा PDF लेकर आए है, जिसे आप free download कर सकते है , यह Swasthya Raksha PDF आपको बिकुल फ्री में मिल रही है.

swasthya raksha book pdf,swasthya raksha,Swasthya Raksha PDF,
Swasthya Raksha PDF Download

स्वास्थ्य रक्षा PDF (Swasthya Raksha PDF Download)

हम आपके लिए हमेशा कही न कही से खोज कर लेकर आते है ऐसी बुक्स जो आपकी जरूरत होती है, आज हम आपके लिए wasthya Raksha pdf लेकर आए है आप इसे एक क्लिक में डाउनलोड कर सकते है|

स्वास्थ्य रक्षा PDF | Swasthya Raksha In Hindi PDF Book Free Download

स्वास्थ्य रक्षा PDF | Swasthya Raksha PDF in Hindi PDF डाउनलोड लिंक लेख में उपलब्ध है, download PDF of स्वास्थ्य रक्षा

पुस्तक का नाम / Name of Bookस्वास्थ्य रक्षा PDF / Swasthya Raksha PDF
लेखक / Writerबाबू हरिदास वैध / Babu Haridas Vaidhya
पुस्तक की भाषा /  Book by Languageहिंदी / Hindi
पुस्तक का साइज़ / Book by Size3895.19 MB
कुल पृष्ठ / Total Pages496
पीडीऍफ़ श्रेणी / PDF Category
स्वास्थ्य / Health
 , आयुर्वेद / Ayurveda
डाउनलोड / DownloadClick Here

आप सभी पाठकगण को बधाई हो, आप जो पुस्तक सर्च कर रहे हो आज आपको प्राप्त हो जायेगी हम ऐसी आशा करते है आप स्वास्थ्य रक्षा PDF मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक डाउनलोड करें | डाउनलोड लिंक निचे दिया गया है  , PDF डाउनलोड करने के बाद उसे आप अपने कंप्यूटर या मोबाईल में सेव कर सकते है , और सम्पूर्ण अध्ययन कर सकते है | हम आपके लिए आशा करते है कि आप अपने ज्ञान के सागर में बढ़ोतरी करते रहे , आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा हमें जरूर साझा कीजिये |

आप यह पुस्तक pdfbank.in पर निःशुल्क पढ़ें अथवा डाउनलोड करें

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप Swasthya Raksha PDF / स्वास्थ्य रक्षा PDF डाउनलोड कर सकते हैं।

यहाँ क्लिक करें – स्वास्थ्य रक्षा PDF मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक डाउनलोड करें

पुस्तक स्रोत

स्वास्थ्य रक्षा PDF | Swasthya Raksha PDF in Hindi

स्वास्थ्य रक्षा PDF पुस्तक का एक मशीनी अंश

संसार में निरोग रहने के बराबर कोई सुख नहीं है। किसी अच्छे विद्वान ने कहा है,–“धघर्मार्थकाममोक्षाणामारोग्यं मूलकारणम्‌ |” अर्थात्‌ धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष,–चारों पदार्थों की जड़ निरोगता है।

जो लोग धमंपरायण हैं, वे भी शरीर ही को धर्म आदि का मुख्य साधन समझते हैं । इसमें सन्देह नहीं, कि बिना निरोगता के इस लोक और परलोक का कोई काम नहीं हो सकता ।

शरीर अस्वस्थ रहने से किसी काम में दिल नहीं लगता; विषयवासना व्यर्थ हो जाती है; रोगी को कुछ अच्छा नहीं लगता। घन, पुत्र, स्त्री आदि जितने सुख हैं, उनमें “निरोगता” ही प्रधान खुख है; क्योंकि उस एकके बिना सब सुख फीके और निकम्मे जान पड़ते हैं।

इसी विचारसे मुसलमान हकीम भी कह गये हैं, कि “एक तन्दुरुस्ती हज़ार नियामत है।”” कौन ऐसा मूर्ख होगा, जो सब सुखों की मूल ‘निरोगता’ की रक्षा करना न चाहेगा ?

पाठक ! यदि आप आरोग्यता चाहते हैं, यदि आप सदा सर्वदा स्वस्थ रहकर सुख से जीवन काटना चाहते हैं, यदि आप संसार में दीघजीवी होकर स्वार्थ-परमाथ साधन करना चाहते हैं, यदि आप अकाल-मत्यु से बचना चाहते हैं; तो आप, हमेशा/सू्योंदय से चार घड़ी पहले ही अपने बिस्तरों को छोड़ देने की आदत डालिये भ्रूति,
स्वृति, नीति ओर पुराणो म जहाँ देखते हैं, वहीं सूरज निकलने से पहले सोकर उठना लाभदायक पाते हैं।

बैद्यक में भी बड़े सवेरे उठना ही परम लाभदायक लिखा है । “भावंप्रकाश” पूवंखएडके चौथे प्रकरण में लिखा हेः– ह बाह्मे मुहर्ते बुध्येत स्वस्थो रक्षार्यमायुषः ।
तत्र दुश्खस्य शान्त्यर्थ स्मरोड्रिमधुसूदनम्‌ ॥ ह“खस्थ अधथात्‌ नीरोग मनुष्य अपनी ज़िन्द्गी की रतक्षा के लिये चार धड़ी के तड़के उठे और डस समय, दुख नाश होने के लिये, भगवान का-भजन करे ।”

हिन्दी, उदू और अँगरेज़ी की अनेक पुस्तकों में अच्छे-अच्छे विद्वानों ने लिखा है र्क्ज़ो लोग रात को १० बजे, उचित समय पर सोकर सर्वेरे, खूरज उदय होने से पहले ही, अपने बिछौने का मोह छोड़ देते हैं, उनका शरीर, सदा, आरोग्य रहता है और उनकी विद्या बुद्धि भी बढ़ती है) सूर्योदय से कुछ पहले के समय को अम्॒त-बेला कहते
हैं।

उस समय की हवा बहुत ही खुहावनी और तन्द॒रस्ती के हक में अम्ुत-समान होती है । उस हवा से लाल खन की तेज़ी बढ़ती है।शरीर में तेज और बल का सश्चार होता है। काम करने मे उत्साह होता है । बदन में एक प्रकार की फुर्ती आ जाती है। सवेरे ही ज्ो काम उठाया जाता है, वह बहुत ही अच्छी तरह पूरा होता है। कठिन-से-कठिन विषय, उस समय, सरलता से, सम भ मे आ जाते हैं। विद्यार्थियों को सबेरे सबक बहुत जल्दी याद होता है और मुद्दत तक याद रहता है।

आपको Swasthya Raksha PDF / स्वास्थ्य रक्षा PDF डाउनलोड में असुविधा हो रही है या इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो हमें मेल करे. आशा करते हैं आपको हमारे द्वारा मिली जानकारी पसंद आयी होगी यदि फिर भी कोई गलती आपको दिखती है या कोई सुझाव और सवाल आपके मन में होता है, तो आप हमे मेल के जरिये बता सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे आपको पूरी जानकारी देने की और आपके सुझावों के अनुसार काम करने की. धन्यवाद !

Similar Posts