हिन्दू मुस्लिम समस्या : बेनी प्रसाद द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Hindu Muslim Samasya : by Beni Prasad Free Hindi PDF Book

हिन्दू मुस्लिम समस्या | Hindu Muslim Samasya in hindi pdf Free Download

हिन्दू मुस्लिम समस्या : बेनी प्रसाद द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Hindu Muslim Samasya : by Beni Prasad Free Hindi PDF Book
लेखक / Writerबेनी प्रसाद / Beni Prasad
पुस्तक का नाम / Name of Bookहिन्दू मुस्लिम समस्या | Hindu Muslim Samasya In Hindi PDF
पुस्तक की भाषा / Hindu Muslim Samasya Book of Languageहिंदी / Hindi
पुस्तक का साइज़ / Book Size13 MB
कुल पृष्ठ / Total Pages219
श्रेणी / Category धार्मिक / Religious  , हिंदू / Hinduism , शिक्षा / Education
डाउनलोड / DownloadClick Here

आप सभी पाठकगण को बधाई हो, आप जो पुस्तक सर्च कर रहे हो आज आपको प्राप्त हो जायेगी हम ऐसी आशा करते है आप हिन्दू मुस्लिम समस्या मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक डाउनलोड करें | डाउनलोड लिंक निचे दिया गया है  , पुस्तकें डाउनलोड करने के बाद उसे आप अपने कंप्यूटर या मोबाईल में सेव कर सकते है , और सम्पूर्ण अध्ययन कर सकते है | हम आपके लिए आशा करते है कि आप अपने ज्ञान के सागर में बढ़ोतरी करते रहे , आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा हमें जरूर साझा कीजिये |

आप यह पुस्तक pdfbank.in पर निःशुल्क पढ़ें अथवा डाउनलोड करें

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप Hindu Muslim Samasya in hindi pdf Free Download हिन्दू मुस्लिम समस्या मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक डाउनलोड कर सकते हैं।

यहाँ क्लिक करें –    हिन्दू मुस्लिम समस्या पाठ  मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक डाउनलोड करें

पुस्तक स्रोत

पुस्तक का एक मशीनी अंश

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह अपने जीवन को समाज में अर्थात्‌ अन्य मनुष्यों के बीच रह कर ही सार्थक कर सकता है। परन्तु 
उसके स्वभाव में जो सामाजिकता है, वह केवल इतनी है कि वह अपने आस-पास के लोगों के साथ, जिनके वह निकट सम्पक में आता है, मिल- जुल कर रह सके। इससे बड़े समाज या मानव समुदाय के साथ उचित सम्बन्ध स्थापित करना वह पीढ़ियों के अनुभव से सीखता रहा है। समाज के जिन अंगों के साथ मनुष्य का अपना निजी सम्पक नहीं होता, उनकी ओर उसकी कतंव्यं की भावना सदा यथेष्ट मात्रा में सजग नहीं रही है । 

इसी कारण मानव समाज विभिन्न समुदायों में बंटा रहा है जिनके बीच न्यूनाधिक मात्रा में सहयोग भी रहा है ओर संघर्ष भी, एकीकरण की क्रिया भी कार्य करती रही है और प्रथक्करण की भी, कोई शासक भी बना है ओर कोई शासित भी । इतिहास इनकी कहानियों से भरा पड़ा है । मनुष्य की सामाजिक चेतना की प्रबलता और गहराई समाज के व्यक्तियों के पारस्परिक सम्बन्ध, उनकी आधिक आवश्यकताओं, उनके शान्ति तथा सुव्यवस्था के प्रबन्ध और युद्ध की आशंका, आदि, अनेक बातों पर अवलम्बित रही है | 

इसी सामाजिक चेतना के फल-स्वरूप रीति-रिवाज, धर्म तथा सदाचार के नियम, क़ानून, सामाजिक ओर राजनीतिक संगठन, आ्रादि का विकास होता है । परिस्थिति तथा वातावरण में, विशेषकर मनुष्य के विचारों में, होने वाले परिवर्तनों पथ हिंदू-सुसलिम समस्या के साथ-साथ, इन सब में भी परिवर्तन होता रहता है |सामाजिक जीवन अपने को अनेक रूपों में प्रकट करता है जिनके आधार में उसके व्यक्तियों की जाति. स्थान, धम अथवा संस्कृति सम्बन्धी एकता की भावना, नागरिक कतंव्य, इतिहास और केवल मात्र संयोग,आदि अनेक बाते रहती हैं । 

यही बातें मनुष्य-मनुष्य को मिलाती हैं,और यही उन्हें दूसरों से अलग भी करती हैं (समाज के विभिन्न समुदायों को एक-दूसरे से अलग रखने वाली बातों में सब से मुख्य वग की भावना है , एक समुदाय की यह भावना कि वह राजनीतिक हैसियत में, धन-दोलत में, पेशे में, शिक्षा में, खानदान के बड़प्पन में, रहन-सहन के ढंग में, दूसरे समुदायों से भिन्न है । 

आपको  Hindu Muslim Samasya in hindi pdf Free Download हिन्दू मुस्लिम समस्या मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक डाउनलोड करने में असुविधा हो रही है या इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो हमें मेल करे. आशा करते हैं आपको हमारे द्वारा मिली जानकारी पसंद आयी होगी यदि फिर भी कोई गलती आपको दिखती है या कोई सुझाव और सवाल आपके मन में होता है, तो आप हमे मेल के जरिये बता सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे आपको पूरी जानकारी देने की और आपके सुझावों के अनुसार काम करने की. धन्यवाद !!

%d bloggers like this: